ग्रामीण भंडारण योजना क्या हैं? | ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

आप सभी का जीवन हमेशा हर्षोल्लास के रंगों से भरा रहे। 🎉 रंग पर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएं 🎉

ग्रामीण भंडारण योजना :- भारत एक कृषि प्रधान देश है, जहां की 70% अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर ही आधारित है, लेकिन आज देखा जा रहा है कि किसानों के पास पर्याप्त साधन न होने की बजह से किसानों का खेती के प्रति मन हटता जा रहा है, हालांकि भारत सरकार से लेकर राज्य सरकार तक किसानों के हित के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन कर रही है, ताकि किसानों को खेती करने में किसी प्रकार की कोई समस्या का सामना करना न पढ़े।

भारत सरकार सरकार ने किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत रखने और किसानों की उगाई गयी फसल को सुरक्षित रखने ले लिए Warehouse Subsidy Scheme की शुरुआत की है जिसके अंतर्गत सरकार किसानों को उनकी फसल को सुरक्षित रखने के लिए फसल भंडारण बनाने के लिए सब्सिडी पर लोन प्रदान करेगी। ताकि किसान इस सब्सिडी लोन को लेकर आसानी से भंडारण बना सके और उसमें अपनी फसल को सुरक्षित रख सके।

Grameen Bhandaran Yojana देश के किसानों की उनकी फसल को सुरक्षित रखने के लिए की गई काफ़ी महत्वपूर्ण योजना है इससे किसानों को काफी फायदे मिलने वाले है, अब किसान इस योजना का लाभ कैसे उठा सकेंगे, इस योजना के लिए पात्रता, विशेषताएं, लाभ, पात्रता क्या – क्या होंगी इसके बारे में आज हम आपको अपने इस ऐतिकले मे बताने जा रहे है। जिसके बारे में आपको जानकारी होना बहुत जरूरी है।

ग्रामीण भंडारण योजना क्या है? – What is Warehouse Subsidy Scheme

ग्रामीण भंडारण योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

ग्रामीण भंडारण योजना भारत सरकार के द्वारा शुरू की गई किसानों के लिए बहुत उपयोगी योजना है, इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार किसानों को उनकी फसल को सुरक्षित रखने के लिए भारतीय बैंक की मदद से सब्सिडी पर लोन प्रदान करेगी। ताकि किसान भंडारण बनाकर अपनी फसल को सुरक्षित वहां रख सके। और उन्हें मजबूरन अपनी फसल को बेचना न पढ़े।

भारत सरकार ने इस योजना की शुरुआत करते हुए कहाँ की सरकार उन किसानों के लिए लोन प्रदान करेगी जो अपने फसल को सुरक्षित रखने के लिए 100 टन से 300000 तक का भंडारण का निर्माण कराएंगे, वही अगर किसान 100 से कम या फिर 300000 टन से ज्यादा का भंडारण बनवाते है तो उन्हें इस योजना के अंतर्गत कोई लोन राशि प्रदान नही की जाएगी।

ग्रामीण भंडारण योजना के तहत पर्वतीय क्षेत्रों में सरकार ने 50 टन तक भंडारण बनवाने के लिए किसानों को लोन सब्सिडी देने का इंतजाम किया है, इस योजना की अच्छी बात यह है कि किसान इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाले लोन राशि को 11 साल तक चुका सकते है, जो काफी लंबी अवधि है।

ग्रामीण भंडारण योजना का उद्देश्य – Objective of Warehouse Subsidy Scheme

अक्सर देखा जाता है कि किसानों के पास इतना पैसा पर्याप्त नही होता है जिसे वह अपनी फसल को लंबे समय तक सुरक्षित रखने ले लिए किसी फसल भंडारण का निर्माण कर सके। जिस कारण उनकी फसल खराब हो जाती है या फिर किसानों को अपनी फसल को मजबूरन बेचना पढ़ जाता है। जिस किसानों की आर्थिक स्थिति बिगड़ जाती है, लेकिन अब इसी बात को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने ग्रामीण भंडारण योजना की शुरुआत की है ताकि किसान इस योजना के अंतर्गत लोन प्राप्त करके अपनी फसल को सुरक्षित रखने के लिए फसल भंडारण का निमार्ण सके। और फसल को आगे तक खराब होने से बचा सके यही सरकार का इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य है।

ग्रामीण भंडारण योजना के लाभार्थी

ग्रामीण भंडारण योजना में किन – किन लाभर्थियों को शामिल किया जाएगा उसकी सूची आप यहां देख सकते है –

  • किसान
  • प्रतिष्ठान
  • व्यक्ति
  • परिसंघ
  • कृषि उपज विपण समिति
  • कृषक/उत्पादक समूह
  • सरकारी संगठन
  • गैर सरकारी संगठन
  • स्वयं सहायता समूह
  • कंपनियां
  • निगम

ग्रामीण भंडारण योजना के अंतर्गत आने वाले बैंक

सरकार ने ग्रामीण भंडारण योजना के अंर्तगत किन बैंकनको सब्सिडी लोन देने की जिम्मेदारी दी है वह कुछ इस प्रकार है –

  • रीजनल रूरल बैंक
  • स्टेट कोऑपरेटिव बैंक
  • अर्बन कोऑपरेटिव बैंक
  • एग्रीकल्चरल डेवलपमेंट फाइनेंस कमेटी
  • कमर्शियल बैंक
  • नॉर्थ ईस्टर्न डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन
  • स्टेट कोऑपरेटिव एग्रीकल्चरल एंड रूरल डेवलपमेंट बैंक

ग्रामीण भंडारण योजना के लिए जरूरी पात्रता – Essential eligibility for Warehouse Subsidy Scheme Online

ग्रामीण भंडारण योजना का लाभ किसानों तक पहुचाने और योजना में आवेदन करने के लिए कुछ जरूरी पात्रताओं को निर्धारित किया है, जो कि आवेदन करने वाले किसान के पास होना अनिवार्य है. ग्रामीण भंडारण योजना जरूरी पात्रता कुछ इस प्रकार है –

  • आवेदनकर्ता किसान भारतीय किसान होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता किसान का आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • ग्रामीण भंडारण योजना के तहत लोन राशि किसान के बैंक खाते में भेजी जाएगी इसलिए बैंक खाता होना जरूरी है।
  • मोबाइल नंबर की आवश्यकता होगी।
  • फॉर्म में लगाने के किये पासपोर्ट फ़ोटो ज़रूरी है।

ग्रामीण भंडारण योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? – How to apply online in Warehouse Subsidy Scheme Online?

अगर आप ग्रामीण भंडारण योजना में आवेदन करना चाहते है तो आप बड़ी आसानी से घर बैठे इस योजना में आपमे डिवाइस से इंटरनेट की मदद से ऑनलाइन आवेदन कर सकते है, ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में आप नीचे स्टेप को फॉलो कर सकते है –

  • ग्रामीण भंडारण योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले आपको विभाग की वेबसाइट पर जाना है।
  • आप चाहे तो इस दिए गए लिंक से डायरेक्ट विभाग की वेबसाइट पर जा सकते है. https://www.nabard.org
  • वेबसाइट पर जाते ही आपको इसके होम पेज पर कुछ विकल्प मिलेंगे जहां आपको एक आवेदन फॉर्म का बटन मिलेगा जहां आपको क्लिक करना है।

ग्रामीण भंडारण योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

  • अब आपके सामने ग्रामीण भंडारण योजना से जुड़ा एक आवेदन फॉर्म खुल जायेगा जिसमे पूछी गयी सभी जानकारी को आपको सही प्रकार भरना है।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको फॉर्म के नीचे सबमिट बटन ओर क्लिक करके फॉर्म को सबमिट कर देना है।
  • सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आपका इस योजना में आवेदन हो जाएगा।

निष्कर्ष

आज हमने अपने इस आर्टिकल के माध्यम से सरकार के द्वारा किसानों के लिए शुरू की ग्रामीण भंडारण योजना के बारे में विस्तार से आपको जानकारी साझा की है। आशा करती हूँ कि आपको दी गयी जानकारी उपयोगी रही होगी और आप सफलतापूर्वक इस योजना में अपना आवेदन कर चुके होंगे।

Spread the love

Leave a Comment